August 1, 2020

योगी को सस्पेंडेड एडीजी का पत्र, 5 IPS अफसरों को पद से हटाने की जरूरत

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में निलंबित एडीजी जसवीर सिंह ने सीएम योगी को पत्र ‎लिखा है। उन्होंने सीएम योगी से आरोपित अफसरों को उनके पदों से हटाकर निलंबित करने और उनके खिलाफ अलग से एफआईआर दर्ज करने की मांग की है। उन्होंने पत्र में लिखा कि रिपोर्ट में अफसरों द्वारा थानाध्यक्षों की पोस्टिंग-ट्रांसफर, खुद अफसरों की तैनाती को लेकर रेट लिस्ट के संबंध में अपराधियों के साथ सांठ-गांठ के तमाम प्रमाण हैं।

इनका संज्ञान लेते हुए आरोपित पांचों आईपीएस अफसरों को उनके वर्तमान पदों से हटाने की जरूरत है। वहीं जसवीर सिंह ने नोएडा एसएसपी वैभव कृष्ण की गोपनीय रिपोर्ट के आधार पर 5 आईपीएस अधिकारियों के खिलाफ नोएडा के सेक्टर 20 थाने में तहरीर दी है।
बता दें ‎कि निलंबित चल रहे एडीजी ने अपनी तहरीर में भ्रष्टाचार विरोधी अधिनियम-1988 की धारा सात का उल्लेख किया है, साथ ही एसएसपी नोएडा ने जो भी साक्ष्य और जानकारियां उपलब्ध करवाईं है उसका भी हवाला दिया है।

उन्होंने कहा कि सभी आरोप दंडनीय अपराध की श्रेणी में आता है। इसके बाद एडीजी ने कहा कि एसएसपीने खुद प्रेस कॉन्फ्रेंस कर दर्ज अपराध की विवेचना के दौरान 5 आईपीएस अफसरों के खिलाफ इलेक्ट्रॉनिक साक्ष्य होने का दावा किया है। इतना ही नहीं सभी साक्ष्य सीएम ऑफिस, अपर मुख्य सचिव गृह व डीजीपी को भेजे हैं। इसलिए इस मामले में अलग से अपराध दर्ज करने की जरूरत है।