हिंसा पीड़ितों से नहीं मिले राहुल-प्रियंका, लौटे दिल्ली

New Delhi: All India Congress Committee (AICC) General Secretary of Uttar Pradesh East Priyanka Gandhi Vadra during the Congress General Secretaries meet, in New Delhi, Thursday, Feb. 07, 2019. (PTI Photo/Arun Sharma) (PTI2_7_2019_000133B)

मेरठ।  नागरिकता संशोधन कानून  के खिलाफ विरोध प्रदर्शन के दौरान हुई हिंसा में मारे गए लोगों के परिवारों से मुलाकात के लिए मंगलवार को मेरठ जा रहे कांग्रेस नेता राहुल गांधी और प्रियंका गांधी वाड्रा को पुलिस ने जिले की सीमा में घुसने से पहले ही रोक दिया। जिला प्रशासन और पुलिस ने उन्हें जिले में धारा 144 लगे होने का हवाला देते हुए जिले की सीमा से बाहर ही रोक दिया।

कांग्रेस का कहना है कि यूपी पुलिस ने आज मेरठ के बाहर राहुल गांधी और प्रियंका गांधी वाड्रा को रोक दिया है। राहुल गांधी की ओर से यह अनुरोध करने के बाद भी कि हम केवल ३ लोग ही जाएंगे पुलिस ने उन्हें मेरठ में घुसने की अनुमति नहीं दे रही है। कांग्रेस नेता राहुल गांधी और प्रियंका गांधी वाड्रा सीएए के खिलाफ विरोध प्रदर्शन के दौरान हुई हिंसा में मारे गए लोगों के परिवारों से मुलाकात करने के लिए मेरठ जा रहे थे।

कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने मंगलवार को नागरिकता संशोधन अधिनियम (सीएए) के विरोध में कांग्रेस द्वारा सोमवार को राजघाट पर आयोजित ‘सफल’ विरोध प्रदर्शन के लिए छात्रों, युवाओं और पार्टी कार्यकर्ताओं का आभार जताया। कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी, पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह और पार्टी के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने सोमवार को सैकड़ों पार्टी समर्थकों के साथ महात्मा गांधी के समाधि स्थल राजघाट पर ‘संविधान में प्रतिष्ठापित अधिकारों की रक्षा की मांग’ करने के साथ-साथ सीएए के खिलाफ प्रदर्शन किया गया था।