July 28, 2020

दिल्ली की तर्ज पर मध्यप्रदेश में संजीवनी क्लीनिक की शुरूआत

भोपाल। मध्य प्रदेश में कमलनाथ सरकार भी दिल्ली की तर्ज पर मोहल्ला क्लीनिक की शुरूआत करने जा रही है। प्रदेश में इसे संजीवनी क्लीनिक का नाम दिया गया है। इसकी शुरूआत शनिवार 7 दिसंबर से होगी। इंदौर में मुख्यमंत्री कमलनाथ और राजधानी में पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह व जनसंपर्क मंत्री पीसी शर्मा इसका शुभारंभ करेंगे। संजीवनी क्लीनिक में डॉक्टर और स्टॉफ की तैनाती के लिए एनआरएचएम द्वारा भर्ती की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है।

गौरतलब है कि स्वास्थ्य विभाग पहले से डॉक्टरों की कमी से जूझ रहा है, ऐसे में संजीवनी क्लीनिक में डॉक्टरों की नियुक्ति करना बड़ी चुनौती भरा साबित हो रहा है। हांलाकि स्वास्थ्य विभाग का कहना है कि संजीविनी क्लीनिक सिर्फ महानगरों में खोली जा रही हैं, इसलिए डॉक्टरों को 60 हजार रुपए वेतन के साथ प्रोत्साहन राशि भी दी जाएगी। संजीवनी क्लीनिक के लिए डॉक्टरों की भर्ती संविदा से की जाएगी। बता दें कि राजधानी के 85 वार्डों में यह क्लीनिक खोली जाना है।
वार्ड 46 में पहली संजीवनी क्लीनिक
राजधानी के वार्ड 46 के अंतर्गत प्रियदर्शनी नगर में संजीवनी क्लीनिक बनकर तैयार है। 7 दिसंबर को दोपहर 2 बजे इसका शुभारंभ पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह करेंगे। यहां डॉक्टर द्वारा लिखी दवाएं मरीजों को क्लीनिक से ही नि:शुल्क दी जाएंगी। हीमोग्लोबिन, मलेरिया, टायफाइड, प्रेग्नेंसी समेत आठ जांचें भी क्लीनिक में ही रैपिड किट से हो जाएंगी।

बाकी जांचें संबंधित जिला अस्पतालों में कराई जाएंगी। यहां बुखार, सर्दी खांसी समेत अन्य बीमारियों का इलाज मिलेगा। यह प्रदेश की पहली संजीवनी क्लीनिक है। इसका शुभारंभ पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह करेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.